मीडिया चैनलो को NDTV ने फिर किया हक्का बक्का, मिली ये बहुत बड़ी खुशखबरी.. पूरा पढ़े इस रिपोर्ट में

0

आज देश मे बहुत सारी मीडिया संस्थाएं है और ये समय के साथ साथ बढ़ती ही जा रही है। लेकिन जब बात आती है विश्वसनीय खबर दिखाने वाली मीडिया संस्थानों की तो इसमें कुछ चुनिंदा मीडिया संस्थान ही गिनी जाती है।

मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है लेकिन आज के कुछ दलाल मीडिया संस्थानो ने इसका मायने ही बदल दिया है। लेकिन कुछ ऐसे भी मीडिया संस्थाएं है जो देश मे पत्रकारिता को जिंदा रखे हुए है।

आजकल मीडिया जगत में टीआरपी की दौड़ लगी हुई है। दर्शको को जरूरी जानकारी दिखाने के बजाए टीआरपी ज्यादा ध्यान दिया जाता है।

टीआरपी की इस होड़ में नेशनल न्यूज़ चैनल एनडीटीवी एक ऐसा मीडिया संस्थान है जो देश की असल मुद्दा पर बहस, जरूरी जानकारी अपने दर्शकों तक पहुचता है। और इस काम के लिए ndtv को एक बार नही कई बार अवार्ड से सम्मनित किया जा चुका है।


अब एक बार फिर NDTV को एशिया का सबसे विश्वसनीय चैनल का मिला अवार्ड मिला है। IBC Infomedia ने एनडीटीवी को यह अवार्ड एशिया के सबसे विश्वसनीय कंपनी की श्रेणी में रखते हुए दिया है।

आपको बता दें कि एनडीटीवी चैनल अपनी निष्पक्ष व धारदार पत्रकारिता को लेकर सत्ताधारी पार्टी के निशाने पर रहता है। आज के समय को देखा जाए तो अधिकतक चैनल सत्ताधारी के पक्ष में खबरों के जनता तक परोस रहे हैं, तो वहीं केवल एनडीटीवी ही वह चैनल रहा है जिसने सरकार पर तीखे अंदाज पर हमले किए हैं।

हालांकि इसके लिए एनडीटीवी को अक्सर अपनी पत्रकारिता का खामियाजा भी भुगतना पड़ता है।

Ndtv के वरिष्ठ और देश के सबसे लोकप्रिय पत्रकार रविश कुमार जिनके सामने देश के बड़े बड़े नेता भी इंटरव्यू देने घबराते है, ‘नौकरी’ पर अब तक 30 सीरीज कर चुके हैं। दुनिया के किसी भी न्यूज चैनल ने नौकरी पर आज तक लगातार 30 सीरीज नहीं की है।

जब हर शाम हर न्यूज चैनलों पर हिंदू-मुस्लिम और मंदिर-मस्जिद की डिबेट का नाटक चलाया जाता है, उस वक्त रवीश देश के सबसे गंभीर मुद्दों बेरोजगारी, शिक्षा, महंगाई पर विशलेषण करते हैं।

रवीश कुमार का यह सरल और सहज अंदाज उन्हें भारतीय न्यूज चैनलों के कथित फायर ब्रांड एंकरों से अलग खड़ा करता है। रवीश कुमार के प्राइम टाइम में हंगामा और बवाल के बजाय सीधे तौर पर चर्चा होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here