मुस्लिम देशों की मेहनत रंग लाई, मयांमार बौद्ध आतंकियो पर हुए कार्यवाही में अब तक कुल…

1

म्यांमार में बौद्ध आतंकियो की मुस्लिमो के प्रति अपराध से हर कोई परिचित है। आखिर में मुस्लिम देशों की कड़ी दबाव की वजह से म्यांमार सरकार को बौद्ध चरमपंथियों के खिलाफ कारवाही करना पड़ रहा है।

सयुंक्त राष्ट्र, यूरोपीय संघ और मुस्लिम देशों के कड़े दबाव के बाद शुरू की गई है.मंगलवार रात को रखाइन में बौद्धों को रोकने के लिए गोलियां चलानी पड़ी. जिसमे 7 बौद्धों की मौत हो गयी और इस घटना में करीब 12 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए।

आपको बता दे हज़ारो की संख्या में बौद्ध अपने उस मंदिर के पास एकत्रित हो गए जिसे मुस्लिमो पर सेना के क्रैकडाइन के दौरान बन्द कर दिया गया था। इसमें पुलिस और बौद्धों के बीच टकराव हो गया और जिसमे पुलिस को गोली चलानी पड़ी।

यह सब कुछ उस दिन हुआ जब म्यांमार और बांग्लादेश के बीच 6, 55, 000 रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस बुलाने के समझौते पर हस्ताक्षर हुए। इस मामले पर बात करते हुए म्यांमार के पुलिस प्रवक्ता कर्नल म्यो सोइ ने बताया कि मंदिर के पास एकत्रित हुए लोगो से सुरक्षाबलों ने जाने के लिए कहा गया,

इससे मने तो चेतावनी देने के लिए पहले उन पर रबड़ की गोलियां चलाई गई. रबड़ की गोलियां चलाने के बाद भी जब भीड़ शांत नहीं हुई तो उन्हें मजबूरन असली गोलियां चलानी पड़ी.उन्होंने कहा कि इस हिंसा में 7 लोग मारे गए और 13 घायल हो गए. वहीं भीड़ के पथराव करने से 20 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए.

साभार- जम्हूतीयत हिंदी

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here