लगभग 2 साल कोमा में रहने के बाद होश में आये पादरी ने किया इस्लाम क़ुबूल, बताई ये वजह-

0

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में 17 महीने बाद कोमा में रहने के बाद कैथोलिक चर्च का एक पादरी को जब होश आया तो उसने इस्लाम कबूल कर कर लिया. उसने बताया कि अल्लाह ने उसे जन्नत की ख़ूबसूरती को दिखाया. इंडोनेशिया में ईसाई धर्म का देते हैं उपदेश. स्पेन के रहने वाले 87 वर्षीय पादरी 43 सैलून से इंडोनेशिया में ईसाई धर्म के उपसेश देते आये हैं. उन्होंने कहा कि ” वह इस्लाम के बारे में कुछ नहीं जानते’ और न ही उन्होंने कभी क़ुरान पढ़ा लेकिन उनको खुदा ने कहा वह इस्लम्म को माने तो तो वो उनको जन्नत में भेजेंगे जिसका दरवाज़ा मेरे सामने था.

उन्होंने कहा खुदा ने मुझे अपना नाम अल्लाह बताया.आधे से ज़्यादा अनुयायियों ने भी अपना धर्म बदला उनके इस्लाम कबूल करने के बाद उनके आधे से ज़्यादा अनुयायियों ने भी अपना धर्म बदल कर इस्लाम को अपना लिया.पादरी का मेडिकल में अभी भी इलाज चल रहा है, जबकि उनके अनुयायियों ने अभी से एक मस्जिद का निर्माण शुरू कर दिया है.


दुनिया में सबसे ज्यादा इस्लाम को अपन्नाने वालों में ईसाई है , इस ख़ास धर्म के लोगों के द्वारा ज्यादा मात्रा में इस्लाम अपनाने की वजह को तलाश किया गया , जब इस बात पर शोध किया तो पाया की ईसाई धर्म को मांनने वालों का शिक्षा का स्तर बहुत ज्यादा है, जिसके चलते इन्होने इस्लाम को करीब से जान लिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here