घाटे में आए बाबा रामदेव, पतंजलि का होने वाला है पतन

0

बाबा रामदेव की आयुर्वेद कंपनी पतंजलि, मोदी राज में जबरदस्त तरक्की कर रही है। आप और हम सब जानते हैं की पतंजलि की कमाई में ख़ासा इजाफा हुआ है। लेकिन जो खबर हम आपको बताने जा रहे उससे साफ़ जाहिर हो रहा है की अब बाबा रामदेव की पतंजलि की नईया डूबने वाली है। हाल ही में पतंजलि के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्ण ने यह बताया है कि पतंजलि के बिजनेस में भारी गिरावट हो रही है।

जिसके लिए उन्होंने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। बालकृष्ण PM मोदी के काम को लेकर जीएसटी जैसी कुछ आर्थिक नीतियों पर नाराजगी जता रहे हैं। आचार्य बालकृष्ण ने जानकारी देते हुए यह कहा है कि नोटबंदी के इतने व्यापक प्रभाव और जीएसटी के कार्य में आने से काफी हद तक उनके बिजनेस पर बुरा प्रभाव पड़ा है। आचार्य बाल कृष्ण का दावा है कि कंपनी की बिक्री में वृद्धि के लिए नोटबंदी और जीएसटी के कारण भारी गिरावट आई है।

इसके साथ ही पतंजलि घाटे में जा रही है। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि पतंजलि उत्पादों में गुणवत्ता के मामले में उसकी कामयाबी पर रुकावट के साथ नुकसान पहुंचा है। गौरतलब है कि हाल ही में पतंजलि के प्रोडक्ट्स मार्किट में काफी आलोचना का पात्र बन गए हैं। स्वदेश के टैग लगाकर अपनी ब्रांडिंग करने वाले बाबा रामदेव की कंपनी कई बार गुणवत्ता को लेकर सवाल खड़े किए हैं।मुंबई स्थित दॉलट कैपिटल मार्केट के एक विश्लेषक सचिन बोबेड का कहना है कि कंपनी के डिस्ट्रीव्यूशन और सप्लाई की श्रृंखला इतने भार को संभालने के लिए पर्याप्त कुशल नहीं थी।

इसके अलावा, इसमें कोई इनोवेशन नही है। कंपनी केवल ब्रांड रामदेव पर सवार होकर एक ही बिंदु से आगे नहीं बढ़ सकती है। आपको बता दें की हाल ही में पतंजलि पर रेवेन्यू इंटेलीजेंस द्वारा 50 टन चंदन की लकड़ी चीन भेजे जाने का आरोप लगाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here