कभी भूख से तड़पने वाला ये मुस्लिम देश आज दुनिया मे सबसे अमीर है, जानिए इस देश की रोचक बातें…

0

इस पोस्ट में हम आज आपको एक ऐसा मुस्लिम देश के बारे में बताएंगे जो कभी भूख से तड़पता था लेकिन आज सबसे अमीर देशो में से एक है।

जी हां हम क़तर देश की बात कर रहे हैं जो दुनिया का एक ऐसा मात्र देश है जहाँ पर कुल आबादी के सिर्फ 14% लोग ही क़तर वासी बाकी बाकी 86% लोग अन्य देशों से काम के लिए क़तर में रह रहे है।

आईये जानते है क़तर की कुछ रोचक तथ्य….

०आबादी के हिसाब से कतर एक ऐसा देश है जहाँ पर सिंगापुर के बाद सबसे ज्यादा करोड़पति रहते है यहां पर कुल जनसंख्या के 13% लोग करोड़पति है।

०कतर में काम के लिए 186 देशो से लोग आए हुए है।

०अगर भारत और कतर की प्रति व्यक्ति आय की तुलना की जाए तो क़तर के प्रति व्यक्ति आय भारत के प्रति व्यक्ति आये से 25-30 गुना ज्यादा है।

०कतर में इनकम टैक्स की बात करे तो वहां इनकम टैक्स नहीं लगता और अन्य प्रकार ले जो टैक्स लगते वो बहुत कम होते है।

०कतर में बेरोजगार लोगों की संख्या 1% से भी कम है वही अपना देश की बात करे तो यहां बेरोजगारी सर चढ़ कर बोल रहा है।

०कतर में एक कृत्रिम रूप से बनाया गया आयरलैंड है जो पूरी दुनिया मे मशहूर है।

०कतर में कोई लड़की घुटना से ऊपर ड्रेस नही पहन सकती ये वहां के कल्चर के खिलाफ है। वहां पर 2 तरह के कानून चलते है पहला सिविल लॉ और शरिया लॉ, शरिया लॉ की वजह से वहां का लॉ बहहत स्ट्रिक्ट है।आप वहां धर्म की निंदा नही कर सकते है अगर करते है तो 7 साल की सज़ा हो सकती है।

०कतर में पैसा तेल के अलावा फिशिंग से भी आता है।

बताते चले 1971 में कतर आजाद हुआ। ब्रिटेन ने सुएज कनाल से अपनी पूरी सेना हटा ली। 22 फरवरी 1972 को पिता अमीर अहमद इब्न अली को हटाकर खलीफा इब्न हमद खुद शासक बने। उन्होंने रॉयल फैमिली के खर्चों में जबरदस्त कटौती की और लोगों से जुड़े कामों को आगे बढ़ाया। सोशल प्रोग्राम, घर, हेल्थ, एजुकेशन और पेंशन से जुड़े कामों में पैसा लगाया गया।

1971 में ही गैस की भंडारे मिली जबकि पेट्रोल का उत्पादन पहले से ही जारी था। 1990 के दशक में कतर ने इंटरनेशनल कंपनीज के साथ ऑयल प्रोडक्शन शेयर करना शुरू किया। 1996 में कतर ने बहुत बड़ा अल उदैद एयर बेस तैयार किया। ये बेस अमेरिका की सेना के काम आया। अमेरिकी सेना के साथ करार होने के बाद कतर जबरदस्त सुरक्षित देश हो गया।

1997 में कतर ने जापान और स्पेन के साथ लॉन्ग टर्म एग्रीमेंट्स किए। इनके तहत वो इन देशों को नेचुरल गैस देने लगा। बाद में कतर ने और भी क्लाइंट्स बना लिए।

1998 में यहां की सरकार ने एजुकेशन सिटी डेवलप की। इस बड़े कैंपस में अमेरिका की 6 और यूरोप की 2 यूनिवर्सिटी खोली गईं। यहां रिसर्च सेंटर भी खोले गए। 2003 में यहां कतर इंवेस्टमेंट अथॉरिटी (क्यूआईए) बनाई गई। इसका काम ऑयल-गैस से मिली रकम को दूसरे कामों में लगाकर रेवेन्यू बढ़ाना था।

वही स्पोर्टिंग हब में भी क़तर अपना पहचान बनाया। ये कई देशों का टूर्नामेंट होस्ट करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here