सावधान रहें, मुसलमानों को बदनाम करने के लिए नागा साधु को पीटे जाने का वीडियो वायरल

0

आजकल सोशल मीडिया पर सच कम और झूठ ज्यादा परोसा जा रहा है। और सोशल मीडिया पर सच भले ही न फैले, लेकिन झूठी अफवाहें बहुत तेजी के साथ फैल जाती हैं। अभी ताजा मामला एक वीडियो का है, जो बहुत तेज़ी से सोशल मीडिया साइट्स पर फैल रही है। इस वीडियो में एक मुस्लिम लड़का एक नागा बाबा को बुरी तरह पीटते हुए दिख रहा है। ये वीडियो इस टाइम सोशल मीडिया पर वायरल है। इस वीडियो के जरिए मुसलमानों के खिलाफ नफ़रत फैलाने का काम किया जा रहा है। इस वीडियो का पूरा सच जानने के लिए, आप हमारी इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

“देहरादून में एक मुस्लिम लड़का, एक नागा साधू को बुरी तरह से पीट रहा है। जब लोगों ने नागा साधू को पीटे जाने को लेकर लड़के का विरोध किया तो वह लड़का पुलिस से बचने के लिए, अपनी बहन से जान बूझकर छेड़छाड़ करने का आरोप लगवा रहा है। आप इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, जिससे ये लड़का पकड़ा जाए।”

ऊपर लिखी गई लाइनों के साथ एक फ़र्ज़ी वीडियो सोशल मीडिया पर बुरी तरह वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दावा किया गया है कि, इसमें दिखने वाला शख्स नागा साधू ही है। जिसे कुछ मुस्लिम युवक पीट रहे हैं। ये वीडियो देहरादून की बताई जा रही है। हांलाकि देहरादून पुलिस का कहना है कि ये वीडियो झूठी है और जिन लोगों ने यह वीडियो सोशल मीडिया पर फ़ैलाया है, उनके खिलाफ कारवाई की जाएगी।

देहरादून के एसएसपी ने ट्वीट करके जानकारी दी कि ये वीडियो झूठा है और जिस नागा साधू को पीटा जा रहा वो असल में एक बहरूपिया है, जिसके खिलाफ नशे की हालत में छेड़छाड़ करने के मामले में पहले भी कानूनी करवाई हो चुकी है।

एसएसपी ने वायरल वीडियो के साथ शेयर की जा रही बात को गलत बताते हुए कहा कि “24 अगस्त 2018 को एक वीडियो वायरल हुई थी, जिसमें एक साधु वेषधारी व्यक्ति को कुछ लोगों द्वारा पीटा जा रहा है। इस वीडियो को लेकर कई लोगों के द्वारा भ्रामक संदेश भी प्रचारित किया जा रहा है।

जबकि वास्तविकता यह है कि यह इस वीडियो में जो व्यक्ति दिख रहा है उसका नाम सुशील नाथ है, जो कि हरियाणा के यमुनानगर का निवासी है। ये एक सपेरा है और वेष बदल कर भीख मांगता रहता है।

एसएसपी ने आगे कहा कि, 24 अगस्त को यह व्यक्ति एक घर में घुसकर, एक युवती के साथ गलत हरकतें करते हुए, युवती के भाई के द्वारा पकड़ा गया था। जिसके बाद युवती के भाई और कुछ स्थानीय लोगों ने उसे पकड़ कर, जमकर धुनाई करने के बाद पटेलनगर थाने के हवाले कर दिया। उनके खिलाफ ‘आईपीसी’ की धारा 354 बी, 504, 452, 376 और 511 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here