कठुआ और उन्नाव रेप की घटना के विरोध में राहुल गांधी का ये कदम सबका दिल जीत लिया…पूरा पढ़े इस रिपोर्ट में

0

हाल ही हुए दो गैंगरेप कठुआ और उन्नाव की घटना सबको हिला कर रख दिया है। इसके विरोध में बीते रविवार को कांग्रेस पार्टी ने कैंडल मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया।

रात 12 बजे से इंडिया गेट से कैंडल मार्च करते हुए विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के अन्य नेताये भी शामिल थे।
कैंडल मार्च के दौरान कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार पर महिलाओ और बच्चियों की सुरक्षा में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि,

“देश में एक के बाद एक महिलाओं और बच्चियों के साथ घटनाएं हो रही हैं. चाहे बात उन्नाव की हो या फिर कठुआ की हम महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा के खिलाफ और इसके विरोध में ही यहां खड़े हैं.”

आगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गया गांधी ने ये भी कहा की “यहां आम जनता, सभी पार्टी के लोग और महिलाएं खड़ी हैं. आज हिंदुस्तान की महिलाएं बाहर निकलने से डरने लगी हैं. यह कोई राजनीतिक मामला नहीं है, यह हमारी महिलाओं की सुरक्षा का मामला है. महिलाओं के खिलाफ जो अत्याचार हो रहे हैं उसके खिलाफ सरकार को कुछ करना चाहिए. बच्चियों और महिलाओं के साथ हिंसा और बलात्कार के मामले लगातार सामने आ रहे हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है.”

कैंडल मार्च में शामिल होने से पहले राहुल गांधी ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा था, “करोड़ों भारतीयों की तरह आज मेरा मन भी दुखी है. भारत में महिलाओं के साथ जो व्यवहार हो रहा है उसे सहन नहीं किया जा सकता. इस हिंसा के ख़िलाफ़ और इंसाफ़ की मांग के लिए आज रात को इंडिया पर मेरे साथ मौन, शांतिपूर्ण कैंडल मार्च में शामिल हों.”
आपको बता दे आसिफा 8 साल की बच्ची थी जो खानाबदोश मुस्लिम समुदाय से थी. उस बकरवाल समुदाय से, जो कठुआ में अल्पसंख्यक है.आसिफा के साथ मंदिर में 6 लोगो ने बारी बारी रेप किया जिसमे रिटायर्ड राजस्व अधिकारी सांजी राम उसके नाबालिग भतीजे भी शामिल थे। रेप करने के बाद दरिंदो ने पत्थरों से कुचल कर आसिफा की हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here