शर्मनाक – मुम्बई में आतंकवाद के आरोप में गिरफ़्तार वैभव राऊत के समर्थन में निकाली गयी रैली, ATS पर लगाये आरोप

0

भंडारी समुदाय और गौ सतर्कता समूह के लोगों ने शुक्रवार को आतंकवाद विरोधी दल (एटीएस) द्वारा गिरफ्तार संदिग्ध आतंकवादी वैभव राउत के समर्थन में नालसोपारा की सड़कों पर मार्च का आयोजन किया। शनिवार तक पुलिस हिरासत में रहने वाले राउत (40) को 10 अगस्त को नालसोपारा (पश्चिम) में अपने घर से आपराधिक षड्यंत्र और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने के लिए बम विस्फोट करने की योजना के लिए गिरफ्तार किया गया था। इस से पहले भी कई बार सरकार और गुनहगारों के ख़िलाफ़ रैली निकाल कर इस देश के संविधान और सरकार की खिल्ली उड़ाई गयी है।

लगभग 200 प्रदर्शनकारियों ने मार्च निकाला जो स्टेशन पर खत्म हुआ। प्रदर्शनकारियों ने भारी पुलिस बल के बीच ‘वंदे मातरम्’ और ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि भंडारी समुदाय के वैभव गांव में अपने हिंदुत्व सिद्धांतों के लिए जाने जाते हैं, को एटीएस द्वारा गलत तरीके से गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने सीधे तौर पर ATS पर तोहमत मड़ दी और कहा कि संदिग्ध आतंकी वैभव का इस से कोई लेना देना नही है।

एटीएस ने दावा किया कि राउत के तीन मंजिला बंगले से विस्फोटक, हथियार और कच्चे माल को जब्त किया गया है जहां वह संयुक्त परिवार में रहता है। एटीएस तब से उसके घर और कार्यालय में खोज कर रहा है। बुधवार को, एटीएस ने उसके वाहन को जब्त कर लिया था, संदेह था कि विस्फोटक परिवहन के लिए इस्तेमाल किया गया था। सादे कपड़े की एक टीम एटीएस अधिकारी पिछले कुछ दिनों से गांव में निगरानी रख रही है। पालघर में भी गुरुवार को विरोध प्रदर्शन से पहले एक मार्च का आयोजन किया।

विरोधियों ने राउत के पोस्टर वाली टी-शर्ट पहनी और मांग की कि उन्हें रिहा कर दिया जाए। उनकी रिहाई की मांग करने वाले बैनर भी प्रदर्शनकारी लिए हुए थे। राउत, राइट विंग से सहानुभूति रखता है और हिंदू संगठन सनातन संस्थान के लिए एजेंट के रूप में काम करता है।

कौन हैं संदिग्ध आतंकी-एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गए संदिग्धों की पहचान वैभव राउत, सुधानवा गोंडलेकर  और शरद कसालकर  के रुप में हुई है। एटीएस एक अफीसर्स के मुताबिक, आरोपी शहर को दहलाने की कोशिश में थे। उनके पास बरामद बम इस्तेमाल करने के लिए तैयार थे।

एटीएस के अधिकारियों के मुताबिक 15 अगस्त और बकरीद से पहले इतनी बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद होना चिंता की बात है। सुधानवा गोंडलेकर ही शिवप्रतिष्ठान हिंदुस्तान का सदस्य है, इसके प्रमुख संभाजी भिड़े हैं। वहीं वैभव राउत सनातन संस्था का सदस्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here