धारा 377 हटते ही आए रुझान, दिल्ली में ऑटो चालक से कुकर्म

0

आप लोगों ने ऐसे मामले तो कई देखे होंगे की किसी महिला का बला#त्कार, अपहरण और अगवा कर लिया गया है। लेकिन आज का यह मामला काफी भयानक और चौंका देने वाला मामला है। यह मामला दिल्ली में स्थित द्वारका जिले के बिंदापुर थाने का है। यह घटना 7 सितम्बर को दिल्ली के भारत बिहार द्वारका में घटित हुई है। इसमें एक ऑटो ड्राईवर के साथ जबरदस्ती दु#ष्कर्म किया गया। ऑटो ड्राईवर को बहुत ही सीधे किस्म का इंसान बताया जा रहा है।

लेकिन 7 सितम्बर की रात को इस ड्राईवर के साथ 3 लोगों ने मिलकर जबरजस्ती गलत काम कर डाला। आपको बता दें कि विवादास्पद धारा 377 हटे हुए अभी ज्यादा दिन नहीं हुए हैं, और इधर दिल्ली में इससे जुड़ा एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। आइये आपको बताते हैं, कि आखिर कौन हैं? ये कुकर्मी लोग, जिन्होंने एक ऑटो ड्राइवर को ही अपनी हवस का शिकार बना डाला।

 

पीड़ित ऑटो ड्राईवर द्वारा बताया जा रहा है कि वो रात के समय में सहयोग विहार से मटियाला की तरफ जा रहा था, तभी उसे तीन युवकों ने हाथ देकर उसे रोका, और उसने सवारी समझकर ऑटो को रोक लिया। ऑटो को रोकते ही तीनो ने उसका मोबाइल और 700 रुपए छीन लिए, मोबाइल और पैसे छीन लेने के बाद वे तीनों उसे एक सुनसान जगह पर ले गए।

उस जगह ले जाकर दो युवकों ने उसके साथ अप्राकृतिक यौ#नाचार करने किया और तीसरा युवक बाहर खड़ा हो कर निगरानी कर रहा था। उन तीनों के पास ह#थियार होने की वजह से ऑटो ड्राईवर कुछ नहीं कर पाया।

ऑटो ड्राईवर की शिकायत दर्ज करते ही थाना प्रभारी करता सिंह, और हेड कांस्टेबल सुरेन्द्र एवं उनकी पूरी टीम इस मामले की जांच में जुट गई है। उनकी टीम ने जगह जगह के सीसीटीबी फूटेज भी चेक किये और कई लोगों से उन आरोपियों के बारे में पता भी किया।

पीड़ित ऑटो ड्राईवर ने बताया है, की मैंने उनके लिए सवारी समझ कर अपना ऑटो रोक लिया था। मेरे ऑटो रोकते ही तीनो आरोपी मुझ पर टूट पड़े और मेरी पिटाई भी की मुझे पीटने के बाद उन्होंने मेरा मोबाइल और कुछ पैसे भी छीन लिए।

जानकारी मिलते ही पुलिस ने सहयोग विहार के तिकोना पार्क से तीनों को अपनी हिरासत में ले लिया है, और उनसे कड़ी पूछताछ की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here